फसल रोग प्रबंधन (2018)

Book 1

Editors: डाॅ. एम.पी. ठाकुर, डाॅ. आर.एन. पाण्डेय, डाॅ. दिनेश सिंह
Year: 2018
Price : 1695.00
ISBN: 81-7019-623-2 (India); 1-55528-447-7 (USA)

About the Book

देश के चुनिंदा फसल रोग विशेपज्ञों के माध्यम से महत्वपूर्ण फसलों के रोगों, उनके लक्षणों, रोगजनकों, अनुकूल वातावरण तथा उनके समंवित रोग प्रबंधन पर विस्तृत जानकारी - ’’फसल रोग प्रबंधन‘‘ नामक पुस्तक के माध्यम से संकलित की गई है। रोग प्रबंधन के अलावा मशरूम उत्पादन की खेती तथा उनमें उत्पन्न रोगों के प्रबंधन पर भी मशरूम विशेपज्ञों द्वारा लेख लिखे गये हैं ताकि पाठकों को समग्र रोग प्रबंधन की जानकारी एक जगह पर प्राप्त हो सके। रोग प्रबंधन में सूचना एवं प्रसार तकनिकी के नवीन उपायों का भी समावेष किया गया है, ताकि किसान विभिन्न माध्यमों से मोबाईल एप का समय पर उपयोग कर फसलों में हो रहे नुकसान को कम कर सके।

Contents

खंड क: रोगजनकों की पहिचान, लक्षण तथा रोकथाम के उपाय

  1. फसलों के महत्वपूर्ण कवक रोगों की पहचान एवं उनका प्रबंधन - सुनील चंद्र दुबे, जमील अख्तर, राज किरण एवं प्रदीप कुमार (1-16)
  2. फलों एवं सब्जियों में जीवाणुजनित रोगों की पहचान एवं उनका प्रबन्धन - दिनेश सिंह एवं अभिजीत शंकर कश्यप (17-40)
  3. भारत में फायटोप्लाज्मा जन्य रोगों की महत्ता आरै उनका नियंत्रण - गोविन्द प्रताप राव एवं जसवीर सिंह 41-50)
  4. सत्रूकृिम से फसलों में नकुसान एवं प्रबन्धन - अर्चना उदय सिंह (51-60)
  5. पुष्पीय पौध परजीवियों की पहचान तथा उनका नियंत्रण - के. पी. वर्मा एवं श्री प्रफुलल कुमार सोनी (61-66)

खडं ख: महत्वपूर्ण फसलों के रोग, लक्षण एवं समेकित प्रबंधन

  1. धान की महत्वपूर्ण बीमारियों की पहचान तथा उनका नियंत्रण - ए. एस. कोटस्थाने एवं पी. के. तिवारी (67-64)
  2. गेहूँ के महत्वपूर्ण रोगों के लक्षण तथा उनका समन्वित प्रबंधन - देवेन्द्र पाल सिहं, सुधीर कुमार एवं प्रेमलाल कश्यप (75-85)
  3. लघुधान्य फसलों के रोगों का प्रबंधन - ए. के. जैन एवं आर. पी. जोशी (87-101)
  4. दलहन उत्पादन को चुनौती देने वाले रोग एवं उनका समाधान - कृष्ण कुमार, उत्कर्ष सिंह राठौर, संदीप कुमार, मोनिका मिश्रा एवं आर. के. मिश्रा 103-121)
  5. तिलहनी फसलों के प्रमुख रोगों का प्रबंधन - के. पी. वर्मा (123-151)
  6. सब्जियों के प्रमुख फफूँद एवं जीवाणुजनित रोगों की पहचान तथा उनका प्रबंधन - सतीश कुमार गुप्ता (153-178)
  7. फलों के रोगों का प्रबंधन - सी. पी. खरे, एम. पी. ठाकुर एवं ए. एस. कोटस्थाने (179-188)
  8. महत्वपूर्ण औषधीय एवं सगंधीय पौधों पर सूत्रकृमियों का प्रभाव एवं उनका नियंत्रण - राकेश पाण्डेय 189-198)
  9. मसाला वाली फसलों के रोग एवं उनका प्रबंधन - अजीत कुमार सिंह (199-207)
  10. गन्ने के प्रमुख रोग आरै उनकी राके थाम - एस. एन. सिंह 209-220)
  11. बांस के प्रमुख रोग तथा उनका प्रबंधन - एस. एल. स्वामी, तरूण ठाकरु, सी. पी. खरे एवं एम. पी. ठाकुर (221-226)

खंड ग: जैविक रोग प्रबंधन

  1. ट्राईकोडर्मा द्वारा पौधों के मृदा-जनित रोगों का नियंन्त्रण - हरिकेश बहादुर सिहं (227-236)
  2. ट्राइकोडरमा विरिडी तथा स्यूडोमोनास फ्लोरिसेन्स द्वारा रोग नियंत्रण - आर. एम. गाडे (237-244)
  3. ट्राइकोडरमा: जैविक नियंत्रण तथा अनुसंधान में अग्रिमः एक समीक्षा - प्रतिभा शर्मा (245-250)
  4. जैविक फफँूदनाशी ट्राइकोडरमा का व्यवसायिक उत्पादन - आर. के. एस. तिवारी (251-270)
  5. माइकोराईजा जैवउर्वरक द्वारा पादप स्वास्थ्य प्रबंधन - ओ. पी. शर्मा (271-277)

खंड घ: रासायनिक तथा अन्य विधियों द्वारा रोग प्रबंधन

  1. रासयनिक दवाइयों के उपयागे का तरीका एवं सावधानियाँ - आर. के. दाँतरे एवं पी. के. तिवारी (279-286)
  2. फफूँदनाशकों तथा कीटनाशकों का सुरक्षित एवं विवेकपूर्ण उपयोग - आर. एन. पाण्डेय एवं पूजा पाण्डेय (287-309)
  3. पौध संरक्षण यंत्र तथा उनका रखरखाव - अजय वर्मा (311-315)
  4. कृषि सेवा केन्द्रों की रोग प्रबंधन में भूमिका - एम.पी. ठाकुर, एस.एस. टुटेजा एवं दीप्ति झा (317-321)
  5. क्राॅप डाॅक्टर एप द्वारा पौध रोगों की पहचान एवं उनकी रोकथाम - रवि आर. सक्सेन एवं अभिजीत कौशिक (323-327)

खंड: मशरूम की खेती तथा उनकी समस्याएं

  1. ग्रामीण स्तर पर मशरूम बीज उत्पादन तकनीक - अजय सिंह (329-334)
  2. आयस्टर तथा मिल्की मशरूम की खेती तथा उसकी समस्याऐं - एच. के. सिहं, अनुराग केरकेट्टा एवं सी. एस. शुक्ला (335-362)
  3. पैरा मशरूम (वाॅल्वेरियेला वाॅल्वेसिया) की खेती तथा उसके दौरान आने वाली समस्यांए - ओ .पी. अहलावत एवं एम. पी. ठाकुर (363-388)
  4. मशरूम के प्रमुख रोग व प्रबन्धन - आर. पी. सिंह एवं के. के. मिश्रा (389-400)
  5. मशरूम अवशेष द्वारा केचुंआ पालन - एस. एस. शाॅ, नवनीत राणा एवं अविनाश गुप्ता (401-410)